Gulkand Firni Recipe (गुलकंद फिरनी)

 Gulkand Firni Recipe
Gulkand Firni Recipe

फिरनी (Firni) उत्तर भारत की एक बहुत स्वादिष्ट और पॉपुलर स्वीट डिश है, जिसे भींगे हुये चावलों को दरदरा पीस कर फुल क्रीम मिल्क के साथ बनाकर तैयार किया जाता है। फिरनी को खीर की तरह से बनाया जाता है, लेकिन फिरनी में भींगे हुये चावलों को दरदरा पीसकर प्रयोग किया जाता है, आप फिरनी को पिसे हुये चावलों की खीर भी कह सकते है। फिरनी को हम अलग अलग तरह की सामग्रियों के साथ बहुत से फ्लेवर में बनाकर तैयार कर सकते है जैसे- मैंगो फिरनी, केसरी फिरनी, बादाम फिरनी आदि। आज हम आपसे गुलकंद फिरनी (Gulkand Firni) बनाने की विधि शेयर करेंगें जो खाने में बेहद टेस्टी और एक नये स्वाद वाली होती है जिसे आप किसी भी ख़ास अवसर पर बनाकर तैयार कर सकते है।

(Ingredients For Gulkand Firni Recipe)-आवश्यक सामग्री

फुल क्रीम मिल्क (Full Cream Milk)- 1 लीटर
चावल (Rice)- आधा कप (भिंगोकर दरदरा पीसकर तैयार कर लें)
चीनी (Sugar)- आधा कप
रोज सीरप (Rose Syrup)- 2 चम्मच
गुलकंद (Gulkand)- 2 चम्मच
रोज एसेंस (Rose Essence)- 1 चम्मच
केसर (Saffron)- 10-15 धागे (6-7 चम्मच गर्म दूध में डालकर घोल बना लें)
किशमिश (Raisin)- 5-6
पिस्ते (Pista)- 7-8 (बारीक काट लें)
काजू (Kaju )- 5- 6 (बारीक काट लें)
इलाइची पाउडर (Cardamom Powder)- आधा चम्मच

(How To Make Gulkand Firni) – विधि

गुलकंद फिरनी बनाने के लिये सबसे पहले सबसे पहले दूध को छानकर किसी भारी तली वाले बर्तन में गरम करने के लिए गैस पर रखें। जब दूध में उबाल आ जाये तब पीसे हुए चावलों को उबलते हुये दूध में डालकर लगातार चमचे से चलाते रहें जब तक कि फिरनी में उबाल ना आ जाये। जब फिरनी में उबाल आ जाये तब गैस को धीमा कर दें और थोड़ी थोड़ी देर में फिरनी को चमचे से चलाते रहे क्योकि फिरनी बर्तन की तली में बहुत जल्दी लग जाती है। अब आप फिरनी में चीनी, गुलकंद, रोज सीरप, रोज एसेंस, किशमिश, पिस्ते, काजू डालकर मिलाकर धीमी आँच पर करीब 5-6 मिनट तक पकने दें। अब गुलकंद फिरनी में इलाइची पाउडर और दूध वाले केसर के घोल को डालकर मिक्स करके गैस बंद कर दें। स्वादिष्ट गुलकंद फिरनी (Gulkand Firni) बनकर तैयार हो गयी है, गुलकंद फिरनी को करीब 2-3 घंटे के लिये फ्रिज में रखकर मिट्टी के बर्तन या फिर सर्विंग बाउल में निकालकर कटी हुई मेवा और किशमिश से गार्निश करके ठंडा ठंडा सर्व कर सकते है क्योकि ठंडी फिरनी की बात ही कुछ और होती है।

(Visited 81 times, 1 visits today)